“khoon ki kami से छुटकारा : खून की कमी को सही दिशा में देने के उपाय”

khoon ki kami अगर आपको हर वक्त थकान रहती है, थोड़ा सा चलने फिरने से सांस फूलने लगती है, हाथ पैर ठंडे रहते हैं या चेहरा पीला पड़ गया है तो हो सकता है कि आपकी बॉडी में khoon ki kami ke lakshan हो। इस Articale मैं एक बहुत ही आसान सा नुस्खा जिसे अगर आपने 8 दिन लगातार आजमा लिया तो आपके शरीर में ना सिर्फ खून की कमी पूरी हो जाएगी बल्कि आपका चेहरा खिल उठेगा और शरीर की स्ट्रेंथ और स्टेमिना भी बढ़ेगा।

बात करेंगे कि कैसे सिर्फ 15 दिन में खून की कमी पूरी हो जाती है। अगर आप बस कुछ चीजों का ध्यान दें तो फिर बिना किसी देरी के शुरू करते हैं।

Khoon Ki Kami आजकल बहुत ही कॉमन प्रॉब्लम है। 60% बच्चे, 50% महिलाएं और 25% पुरुषों में आज की डेट में खून की कमी की शिकायत है। खून की कमी यानी अनेमिया हमें तब होता है जब हमारे ब्लड में Hemoglobin की कमी हो जाती है। Hemoglobin का काम है की वो ऑक्सीजन को शरीर के कोने कोने में पहुंचाता है और अगर ऑक्सीजन ही कम पहुंचे तो ना सिर्फ हर एक ऑर्गन वीक पड़ने लगता है बल्कि शरीर की शक्ति भी खत्म होने लगती है। तो

Hemoglobin होना कितना चाहिए? मेल्स में 13.5 से लेकर 17 ग्राम पर डेसीलीटर Hemoglobin की हेल्थी रेन्ज मानी जाती है।

यही महिलाओं में 12 से लेकर 15.5 तक मानी जाती है।

Table of Contents

Khoon Ki Kami Ke Lakshan

जब यह Hemoglobin रेन्ज से नीचे चला जाता है तो Khoon Ki Kami हो जाती है और इसकी वजह से बॉडी में कुछ खास लक्षण सामने आते हैं।


जैसे हमेशा थकान महसूस होना, काम में मन ना लगना, थोड़ा सा ही चलने फिरने से सांस फूलने लगना, दिल की धड़कन तेज हो जाना, चक्कर आना, हाथ पैर ठंडे होना, सिर में दर्द होना, आँखों में नीचे की तरफ सफेदी आना, चेहरा बेजान सा पीला पड़ना, बाल झड़ने लगना, नाखून जल्दी टूटना, मूड चिड़चिड़ा होना और चौक बर्फ़ या मिट्टी खाने की इच्छा होना। अगर आपको भी कुछ ऐसे ही Symptoms महसूस होते हैं तो ये खून की कमी की ओर इशारा कर रहे हैं।

और खून की कमी के पीछे जो सबसे बड़ा कारण है वो है आइरन की डेफिशियेंसी हो, क्योंकि Hemoglobin बनाने के लिए बॉडी को आइरन की जरूरत पड़ती है। आइरन अगर कम होगा | 

Hemoglobin ज्यादा नहीं बनेगा, जिससे Khoon Ki Kami Ke Lakshan होगी। इसलिए अगर आप हरी सब्जियां कम खाते है या लोहे के बर्तन का इस्तेमाल नहीं करते तो आपको आइरन की कमी होने के चान्सेस बढ़ जाते हैं। 

फिर महिलाओं को मेन्स इसमें ओवर ब्लीडिंग होना या बहुत ज्यादा चाय कॉफी पीने से भी खून की कमी शरीर में हो जाती है। लेकिन अक्सर लोग खून की कमी को पूरा करने के लिए जो गलती करते हैं वो ये है कि सिर्फ आइरन के सप्लिमेंट्स लेने लगते हैं।

बहुत बार ये सप्लिमेंट्स या तो सूट नहीं करते या फिर असर नहीं करते। वो इसलिए क्योंकि आइरन को अच्छे से दोषमुक्त होने के लिए बॉडी को वाइटमिन C बहुत जरूरी है। आप सिर्फ आइरन लो और बॉडी को विटामिन सी मिले ना तो फायदा नहीं होगा।

Khoon ki kami

खून की कमी से बीमारी

Hemoglobin Ke LEVEL नीचे चला जाता है तो Khoon Ki Kami हो जाती है इसकी वजह बॉडी में कुछ लक्षण-

  • थकान महसूस होना,
  • काम में मन ना लगना,
  • सांस फूलने लगना,
  • दिल की धड़कन तेज हो जाना,
  • चक्कर आना,
  • हाथ पैर ठंडे होना,
  • सिर में दर्द होना,
  • आँखों में नीचे सफेदी आना, चेहरा
  • पीला पड़ना,
  • बाल झड़ने लगना,
  • नाखून जल्दी टूटना,
  • मूड चिड़चिड़ा होना, 

कौन सी सब्जियां Khoon Ki Kami दूर करने के लिए खाई

आज मैं आपसे शेयर करना चाहता हूँ आयुर्वेद की संहिताओं में मौजूद एक ऐसा जूस जिसे आप घर पर बड़े आराम से बना सकते हैं तीन सिंपल इनग्रेडिएंट से और जो आपके Hemoglobin को महज 15 दिन में बढ़ा देगा। इस जूस को बनाने के लिए जो आपको पहली चीज़ चाहिए वो है बीटरूट यानी Beetroot।

Beetroot में ना सिर्फ भरपूर मात्रा में आयरन होता है बल्कि इसमें फोलिक एसिड की क्वांटिटी भी काफी हाई होती है, जिससे Khoon Ki Kami बहुत जल्दी पूरी होती है। यह समझ लीजिए कि खून की कमी पूरी करने के लिए Beetroot बेस्ट है। स्टडी से पता चलता है कि Beetroot बॉडी में ऑक्सीजन को बढ़ाता है, जिससे जल्दी थकान नहीं होती।

 Khoon Ki Kami Liye दूसरा इन्ग्रीडिएंट जो आपको चाहिए वो है गाजर। गाजर में बीटा कैरोटीन होता है जिससे बॉडी वाइटमिन ये बनाती है और विटामिन ए Hemoglobin प्रोडक्शन में बहुत हेल्पफुल है। मॉडर्न स्टडीज़ ने आज प्रूफ किया है कि गाजर के जूस से खून तो बढ़ता ही है, साथ में इससे स्किन हट और लिवर हेल्थ भी इम्प्रूव होती है।

तीसरा और फाइनल इन्ग्रीडिएंट जो हमें चाहिए वह है आंवला, आमला खून को बढ़ाता है बल्कि ब्लड को प्यूरीफाई भी करता है। ये हम जान ही चुकें हैं कि विटामिन सी कितना जरूरी है खून की कमी को पूरा करने के लिए और जितना विटामिन सी 40 संतों में होता है उतना सिर्फ एक आंवला में होता है और यही नहीं आमला में आइरन भी होता है और इसे साथ में डालने से जूस को एक टैंगी फ्लेवर मिलता है।

Khoon Ki Kam होने पर क्या खाएं

अब ये तीन इनग्रेडिएंट्स तो पता चल गयी लेकिन अब जानते हैं कि इस जूस को बनाने का और Khoon Ki Kami dur kare
इस जूस को बनाने के लिए आपको एक मीडियम साइज Beetroot लेना है। 100 से 150 ग्राम का गाजर आपको लेनी है। 200 से 250 ग्राम कोशिश करें कि आप ओर इज़ की जगह लाल गाजर का इस्तेमाल करें और एक आमला ले ले और उसको काट के उसकी गुठली अलग कर दे।

Khoon Ki Kami hone par बस अब इन तीनों चीजों को थोड़े से पानी के साथ ब्लेंडर में पीस लें। जब अच्छे से पीस जाए तो उसे पतली छलनी या सूती कपड़े से छान लें। वैसे अगर आप चाहे तो इस चूस को बिना छाने भी पी सकते हैं। न्यूट्रिशन और फाइबर वेस्ट नहीं होगा लेकिन पीना मुश्किल लगे तो छानकर पिएँ।

इस जूस को पीने का बेस्ट टाइम है सुबह ब्रेकफास्ट से आधा एक घंटा पहले जैसे आप सुबह उठें, पानी पीकर फ्रेश हो जाए और उसके बाद इस चीज़ को अगर आप पीएंगे तो आपको इसका भरपूर फायदा मिलेगा। इसके अलावा आप इस चीज़ को दो मील्स के बीच में भी पी सकते हैं। जैसे ब्रेकफस्ट के 2 घंटे बाद और लंच से एक घंटा पहले या फिर लंच के 2 घंटे बाद ये ध्यान रखें कि इस जूस को आपने शाम को 6:00 बजे के बाद नहीं पीना है। इससे आपको इसका पूरा फायदा नहीं मिलेगा।

एक और चीज़ जो आपको ध्यान देनी चाहिए वह यह कि जूस को कभी भी जल्दी में ना पिएं बल्कि धीरे धीरे पिएं। इससे यह बॉडी में अच्छे से दोषमुक्त हो जाएगा और पूरा फायदा मिलेगा।

1 thought on ““khoon ki kami से छुटकारा : खून की कमी को सही दिशा में देने के उपाय””

Leave a Comment